Protest in Peru: तेल की कीमतों के भारी विरोध के बिच राष्ट्रपति ने हटाया कर्फ्यू

Protest in Peru: तेल की कीमतों के भारी विरोध के बिच राष्ट्रपति ने हटाया कर्फ्यू , विरोध के कारण तेजी से कम हुई है कैस्टिलो की लोकप्रियता, Pedro Castillo
Spread the love

Protest in Peru, Pedro Castillo: तेल की कीमतों के भारी विरोध के बिच राष्ट्रपति ने हटाया कर्फ्यू, लोगो से की शांत रहने की अपील:- नमस्कार दोस्तों, कर्फ्यू ने कैसिटलो प्रशासन के लिए एक नया संकट पैदा कर दिया हैं, जिसमें हजारों लोग इसे टालने के लिए सड़कों पर उतर आये। मंगलवार को नए विरोध प्रदर्शन ने इस व्यापक संकट को और बढ़ा दिया। 

Protest in Peru

पेरू (Peru) ने राष्ट्रपति पेड्रो के कैस्टिलो (Pedro Castillo) ने कर्फ्यू के आदेश को हटा लिया हैं। उन्होंने ऐसा इसलिए किया है, क्यूंकि युक्रेन संघर्ष के कारन इंधन और उर्वरक की बढ़ती कीमतों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज हो गए थे। Pedro Castillo ने मंगलवार को कांग्रेस के साथ बैठक में कहा, हम यह घोषणा कर रहे हैं की इस छन से हम कर्फ्यू (Curfew) के आदेश को रद्द करने जा रहे हैं। 



Protest in Peru

अब हम पेरू के लोगों से शांत रहने का आवाहन करते हैं। आपको बता दें की कैस्टिलो ने सोमवार की रात को अचानक कर्फ्यू का आदेश जारी कर दिया था। इसमें राजधानी लिमा के निवाशियों को बढ़ती कीमतों पर देशव्यापी विरोध को रोकने के प्रयास में 2 बजे से 11:59 बजे के बिच घर पर रहने का आदेश दिया गया। लेकिन कर्फ्यू ने कैस्टिलो प्रशासन के लिए एक नया संकट पैदा कर दिया। जिसमे हजारों लोग इसे टालने के लिए सड़कों पर उतर आए। मंगलवार को नए विरोध प्रदर्शन ने इस व्यापक संकट को और बढ़ा दिया, जो एक सप्ताह पहले देश में बढ़ती मुद्रास्फीति को लेकर शुरू हुआ था।



Protest in Peru: 26 वर्ष के रिकॉर्ड स्तर पर पहुची महंगाई दर

आपको बता दें की रुस पर पश्चमी प्रतिबंधो ने तेल और उर्वरकों की आपूर्ति में कटौती की हैं, जिसमे पेरू (Peru) जैसे नाजुक उभरती अर्थव्यवस्थाओं को नुकसान पंहुचा हैं। कई देशों की तरह पेरू युद्ध (Peru) शुरू होने से पहले उच्च मुद्रास्फीति से जूझ रहा था। लेकिन इस संघर्ष ने भोजन, इंधन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में तेजी से वृद्धि की हैं।


पेरू (Peru) की मार्च में महंगाई दर 1.48 फीसदी थी जो 26 वर्ष में सबसे जायदा थी। कैस्टिलो पिछले साल पेरू (Peru) की ग्रामीण आबादी के भारी समर्थन के साथ सत्ता में आये थे, लेकिन बढ़ती कीमतों ने उसी समूह को अपने प्रशासन में अब तक का सबसे महत्वपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया हैं।



Protest in Peru: विरोध के कारण तेजी से कम हुई है कैस्टिलो की लोकप्रियता

दोस्तों, कैस्टिलो की लोकप्रियता तेजी से कम हुई है और अब यह 25 प्रतिशत के आसपास हैं। लॉकडाउन के आदेश ने लिमा के कई निवाशियों को स्तब्ध कर दिया जो अपनी नागरिक स्वंत्रता के उलंघन के रूप में देखे जाने वाले कार्यों की अवहेलना करने के लिए सड़कों पर उतर आये। 


पेरू की राजधानी लिमा में मंगलवार को विरोध प्रदर्शन और हिंसा के कारन कर्फ्यू लगा दिया गया, जहा भारतीय निशानेबाज ISSF विश्व कप में हिस्सा ले रहे थे। परमपाल सिंह गुरों, अमरिंदर चीमा और मुनेक बटुला की भारतीय पुरुष स्कीट टीम कोच विक्रम चोपरा के साथ अपनी स्पर्धाओं में भाग लेने के लिए वहा रुक गए हैं जबकि अन्य निशानेबाज स्टाकगन विश्व कप में अपनी प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेने के बाद स्वदेश लौट चुके हैं।



इन्हें भी पढ़ें


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top
Scroll to Top